Tuesday, April 16, 2024
Newspaper and Magzine


कामरेड जिले सिंह पाल को कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष एवं कामरेड अरूण कुमार शक्करवाल एडवोकेट को प्रांतीय महासचिव चुना गया

By LALIT SHARMA , in Politics SOCIAL , at December 12, 2021 Tags: , , ,

BOL PANIPAT : 12 दिसम्बर आज स्थानीय भगत सिंह स्मारक में हरियाणा खेत मजदूर यूनियन की राज्य कमेटी की मीटिंग कामरेड जिले सिंह पाल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में सर्वप्रथम देश के सी डी एस बिपिन रावत, उनकी पत्नि एवं 11सैन्य अधिकारियों की हेलीकाप्टर हादसे में मृत्यु पर दुख व्यक्त किया गया और उन्हें मौन श्रद्धांजलि अर्पित की गई। बैठक में 11 दिसम्बर को दिल्ली से वापस जाते समय ढंढूर गांव (जिला हिसार) के पास हुई सड़क दुर्घटना में दो किसानों की मृत्यु पर भी दुख व्यक्त किया गया।

बैठक में लम्बे समय तक चलाए गये आंदोलन एवं आंदोलन की जीत पर संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व एवं सभी शामिल संगठनों को बधाई दी गई।

बी के एम यू के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दरियाव सिंह कश्यप ने वर्तमान हालात पर विस्तार से चर्चा की और हाल ही में कोलकाता में सम्पन्न बी के एम यू की जनरल कौंसिल के फैसलों पर विस्तृत रिपोर्ट पेश की। उन्होंने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी के चलते आज खेत मजदूरों का जीवन दूभर हो गया है। केन्द्र की मोदी सरकार जनता के पैसे से खडे़ किये गये सार्वजनिक क्षेत्र को बडे़ बडे़ पूंजीपतियों को कोडि़यों के भाव बेच रही है जिसके चलते आरक्षण व्यवस्था बेमायनी हो गई है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि खेत मजदूरों को संगठित करके व्यापक स्तर पर आंदोलन चलाना समय की आवश्यकता है।

बैठक में खेत मजदूरों के लिए केन्द्रीय कानून बनाने, 100 – 100 वर्ग गज के रिहायशी प्लाट देने और उन पर पक्का मकान बनाने के लिए प्रति प्लाट पांच लाख रुपये की ग्रांट देने, मनरेगा का बजट बढाने और साल में कम से कम दो सौ दिन काम और 600 रुपये प्रतिदिन मजदूरी देने, खेत मजदूरों के बच्चों को के जी से पी जी तक मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा देने,खेत मजदूरों को 55 वर्ष की आयु होने पर 5000 रुपये मासिक पैंशन देने व पैंशन का कानून बनाने, सरकारी कार्यालयों में खाली पडे़ पदों को भरने के लिए विशेष भर्ती अभियान चलाने, खेत मजदूरों के लिए राज्य कल्याण बोर्ड का गठन करने आदि मांगों को लेकर 15 मार्च 2022 को राज्य के सभी जिलों में प्रदर्शन करके अधिकारियों को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देने का फैसला लिया गया।

खेत मजदूरों के मांगपत्र के प्रचार -प्रसार के लिए 20 फरवरी 2022 को कुरूक्षेत्र में राज्य स्तरीय कन्वैंशन एवं जिला स्तर पर कार्यकर्ता सम्मेलन करने का भी निर्णय लिया गया। इस दौरान राज्य मे यूनियन के 50 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य तय किया गया। बैठक में खेत मजदूरों में बढ रही नशे की प्रवृत्ति, अशिक्षा, सादियों में नाजायज खर्च जैसी सोच के खिलाफ जागरण अभियान चलाने पर जोर दिया गया।

बैठक में यूनियन के प्रांतीय महासचिव कामरेड प्रेम सिंह ने अस्वस्थता के चलते स्वेच्छा से पद छोड़ने की घोषणा की। इस घोषणा के बाद उन्हें माला पहनाकर एवं शाल ओढाकर सम्मानित किया गया। बैठक में सर्वसम्मति से कामरेड जिले सिंह पाल को कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष एवं कामरेड अरूण कुमार शक्करवाल एडवोकेट को प्रांतीय महासचिव चुना गया। इस अवसर पर सीपीआई के जिला सचिव पवन कुमार सैनी एडवोकेट, फकीर चंद,सतबीर कश्यप, मनीराम बेलरखा, रामबीर कश्यप, प्रेम सिंह, अरुण कुमार, भूपेन्द्र कश्यप,बिक्रम सिंह आदि ने विचार व्यक्त किये और संगठन को मजबूत करने पर जोर दिया।

Comments