Sunday, March 3, 2024
Newspaper and Magzine


पुलिस सहायता ना मिलने के चलते आज तीसरी बार फिर टली अवैध कॉलोनी पर पीला पंजा चलाने की कार्रवाई

By LALIT SHARMA , in SOCIAL , at December 9, 2021 Tags: , , , , ,

शिकायतकर्ता ने कहा की सत्ता पक्ष के नेताओं के आशीर्वाद के चलते नहीं तोड़ी जा रही है अवैध कॉलोनी

BOL PANIPAT ,(9 दिसंबर)अवैध कॉलोनी को लेकर नगर निगम द्वारा आज पुलिस फोर्स ना मिलने के कारण नूर वाला स्थित काटी जा रही कालिदास अवैध कॉलोनी पर कार्रवाई नहीं हो पाई जिस पर शिकायतकर्ता जोगिंदर स्वामी पूर्व जिला पार्षद आरोप लगाते हुए कहा कि यह सब अधिकारियों की मिलीभगत के तहत हो रहा है उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के अवैध कॉलोनियां विकसित ना होने के आदेशों की अधिकारियों द्वारा खुले रूप से धज्जियां उड़ाई जा रही है.

उन्होंने कहा कि यह कॉलोनाइजर भाजपा नेताओं के संरक्षण में अवैध कॉलोनी काट रहे हैं जिसको लेकर इन कॉलोनियों पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही
उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा अवैध भवन बना रहे मोनू पुत्र मनोहर लाल मेहता और आशु के खिलाफ नगर निगम द्वारा नोटिस जारी किए थे लेकिन उसके बाद भी शासन प्रशासन को ठेंगा दिखाते हुए आशु द्वारा सैकड़ों गज मे बहुत बड़ा गोदाम बना कर खड़ा कर दिया गया.

इसके साथ साथ लगभग 25–30 बड़े-बड़े गोदामों का खुले रूप से निर्माण कार्य जोरों पर है और किसी भी व्यापारी को कोई नोटिस नहीं दिया गया जो दर्शाता है की नगर निगम और जिला योजनाकार की मिलीभगत के तहत ही लगभग 25–30 एकड़ में फैली अवैध कॉलोनी को विकसित करवाने में लगे हुए हैं

उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा इन अवैध कॉलोनी काटने वाले कॉलोनाइजरो पर अब तक कोई आपराधिक मामला दर्ज ना होना दर्शाता है कि शासन प्रशासन द्वारा इन लोगों को अवैध कालोनियां काटने की खुली छूट मिली हुई है

उन्होंने कहा कि कुछ समय पूर्व ही जिला योजनाकार द्वारा शालिनी गैस गोदाम के पास अवैध तरीके से बने कुछ निर्माणों को गिराया गया था लेकिन उन द्वारा उसके साथ लगती इस कॉलोनी पर कोई कार्यवाही नहीं की गई जो इन विभागों की मिलीभगत को खुले रुप से दर्शाता है.

उन्होंने कहा कि आज शहर में चारों तरफ खुले रूप से शहर के रसूखदार लोगों द्वारा कृषि भूमि को तहस-नहस कर उसमें अवैध कॉलोनी काटने का धंधा जोरों पर चलाया हुआ है और प्रशासन मुंक रहकर उनको अपना समर्थन जारी किए हुए हैं उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के नेताओं और जिला प्रशासन को यह स्पष्ट कर देना चाहिए की अवैध कॉलोनियों पर किसी प्रकार की कोई भी कार्रवाई नहीं की जाएगी तो वह कभी भी इन अवैध कॉलोनियों की शिकायत नहीं देंगे

Comments