Friday, July 19, 2024
Newspaper and Magzine


नियम 134 ए के तहत दाखिले पर निजी स्कूलों का इनकार, बच्चे व अभिभावक निराश होकर लौट रहे हैं।

By LALIT SHARMA , in EDUCATIONAL , at December 17, 2021 Tags: , , , ,

BOL PANIPAT : हरियाणा प्रदेश  में शिक्षा का अधिकार हो रहा विफल हरियाणा शिक्षा अधिनियम 134 ए के तहत प्रदेश के गरीब परिवारों के बच्चों के प्रदेश के निजी स्कूलों में नियम 134 ए के तहत दाखिले होने का प्रावधान है, जिसके लिए इस वर्ष 2021 के लिए शिक्षा विभाग द्वारा आधा सेशन  बीत जाने के बाद अक्टूबर – नवंबर माह में दाखिले के लिए सरकार द्वारा आवेदन मांगे गए जिस पर पूरे प्रदेश से पूरे प्रदेश में 7384 निजी स्कूलों दाखिलों के लिये 66495 आवेदन आए, ओर पूरे प्रदेश में रिक्त सीटे 204154 से भी अधिक थी, जिस पर शिक्षा विभाग द्वारा दिनांक 05-12-2021, को शिक्षा विभाग आवेदन करने वाले बच्चो का स्क्रीन टेस्ट लिया गया था, और जो बच्चे राजकीय स्कूलों में पहले से शिक्षा ग्रहण करते आ रहे थे उन बच्चों का  राजकीय स्कूलों के द्वारा पिछली कक्षा में करवाये गए पेपर में प्राप्त अंकों को ही आधार बनाए रखा, व निजी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिये गए टेस्ट में 55% से कम अंक लेने वाले बच्चों को शिक्षा विभाग द्वारा पहले ही बार कर दिया गया था, शिक्षा विभाग के नियमानुसार 55% से ज्यादा अंक लेने पर ही बच्चों को स्कूल अलॉट किया गया,  उसके बाद मेरिट के आधार पर अंक हासिल करने वाले बच्चों को दिनांक 10:12 2021 को स्कूल अलॉट किया जाना था, परंतु बिना किसी सूचना दिए नया नोटिस जारी करते हुए 15-12 -2021 को स्कूल अलॉट करने का फरमान जारी कर दिया, दिनांक 15-12- 2021 को सुबह 9:00 बजे से साय 5:00 बजे तक भी आवेदन करने वाले बच्चों को स्कूल अलॉट नहीं किया गया तो आमजन गरीब लोगों का सब्र का बांध टूट सा गया, काफी लोगों ने कैलाश चंद एडवोकेट से संपर्क किया जिस पर अधिवक्ता द्वारा शिक्षा निदेशालय को पत्र लिखा पत्र लिखने के मात्र 4 घंटे बाद ही शिक्षा निदेशालय द्वारा बच्चों को स्कूल अलॉट करने की लिस्ट जारी कर दी, जब लिस्ट में अपना नाम लेकर बच्चे अलॉट किये गए स्कूल में दाखिले के लिए गए तो निजी स्कूलों ने दाखिला ना देने की बात कहकर आमजन व बच्चों को वापस भेज दिया, इस समस्या बारे काफी पीड़ितों ने कैलाश एडवोकेट के माध्यम से अपनी शिकायत निदेशालय जिला उपायुक्तों व जिला शिक्षा अधिकारियों को ईमेल के माध्यम से भिजवाई कैलाश चंद्र एडवोकेट द्वारा प्रदेश के शिक्षा विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी, निदेशालय, व प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों, जिला पुलिस अधीक्षकों जिला, शिक्षा अधिकारियों व  जिला बाल कल्याण अधिकारियों के ईमेल आईडी पूरे प्रदेश की लिस्ट जारी की,आम जन के लिए काफी कारगर साबित होगी, दिनांक 16:12 2021 को साय 5:30 बजे शिक्षा विभाग द्वारा, नोटिस जारी कर सूचना दी गई कि जो लिस्ट पहले लगाई गई थी वह लिस्ट कैंसिल की जाती है,और दूसरी लिस्ट जारी की जाएगी 16-12- 2021 को रात 9:00 बजे उपरांत शिक्षा विभाग द्वारा नई लिस्ट जारी की गई134-A के दाखिलों की पुरानी लिस्ट कैंसिल करके नई लिस्ट जारी की गई है जो कि पूरे प्रदेश में प्रत्येक जिलों में अलॉट बच्चो की जिले वार संख्या पूरे प्रदेश में :- 41680, है

जिले वार सूची

AMBALA:- 1973 BHIWANI:-2186 CHARKHI DADRI:- 3266 FARIDABAD:- 2779 FATEHABAD:- 1382 GURUGRAM:- 1570 HISSAR:- 3268 JHAJJAR:- 2160 JIND:- 1914 KAITHAL:- 2299 KARNAL:- 2760 KURUKSHETRA:- 2274 MAHINDERGARH:-1206 NUH:-726 PALWAL:- 1675 PANCHKULA:-445 PANIPAT:- 2067 REWARI:- 2151 ROHTAK:- 1797 SIRSHA:- 1387 SONIPAT:- 2544 YAMUNANAGAR:- 1970

सबसे ज्यादा हिसार 3268सबसे कम पंचकूला- 445

 शिक्षा द्वारा लिस्ट बदलने पर अभिभावक काफी असमंजस की स्थिति में नजर आए,दिनांक 17 -12- 2021 को नई लिस्ट के आधार पर शिक्षा विभाग द्वारा अलाट किए गए स्कूल में बच्चे व अभिभावक अपने दाखिलों के लिए स्कूलों में पहुंचे तो निजी स्कूलों में दाखिले देने के लिए नए नए बहाने बनाए, किसी ने कहा एनुअल चार्ट, स्मार्ट क्लास, व अन्य खर्चा देने होंगे, किसी ने सिर्फ ट्यूशन फीस माफ करने की बात कही, अन्य खर्च जमा करने होंगे, किसी ने कुछ किसी ने कुछ बहाने बनाते हुए दाखिला देने से मना कर कर दिया, निजी स्कूलों की सोच है कि सरकार द्वारा दाखिलों की निर्धारित तारीख 24 दिसंबर 2021 है उस तारीख को निकालकर का मकसद है सोसह रहे हैं बाद में कह देंगे कि हमारे पास दाखिला लेने कोई आया ही नही, जिससे साफ साफ लग रहा है कि निजी स्कूल 134 ए के बच्चों को दाखिला ही नहीं देना चाहते, कैलाश चल एडवोकेट द्वारा कहा गया कि दाखिला देने से मना करने वाले स्कूलों के खिलाफ शिकायत ईमेल के माध्यम से उच्च अधिकारियों को भेज दे,

 जिसके लिए कैलाश चंद एड्वोकेट द्वारा  आमजन की सहायता हेतु  शिकायत का प्रोफॉर्मा बना दिया है और उच्च अधिकारियो की ईमेल आईडी व प्रदेश के सभी जिलों के उपायुक्तों जिला शिक्षा अधिकारियों ईमेल की ईमेल आई डी, व  कैलाश चंद द्वारा खुद की ईमेल मोबाइल नम्बर भी दिए हैं कोई भी पीड़ित आमजन कैलाश चंद एडवोकेट से संपर्क करके प्राप्त कर अपनी शिकायत उच्च अधिकारियों को भेजे सकते हैं और कहा कि किसी भी गरीब बच्चे को दाखिले से वंचित नहीं होने देंगे जिसके लिए आखिरी दम तक संघर्ष करते रहेंगे अपना मोबाइल नंबर भी जारी किया गया है उनके द्वारा जारी मोबाइल नंबर 98 170 81 972 नंबर पर निशुल्क सहायता ली जा सकती है।

Comments