Tuesday, April 16, 2024
Newspaper and Magzine


दयाल सिंह पब्लिक स्कूल के प्रांगण में मनाया गया गणतंत्र दिवस।

By LALIT SHARMA , in EDUCATIONAL , at January 26, 2022 Tags: , , , , ,

BOL PANIPAT : सैक्टर 13-17 में स्थित दयाल सिंह पब्लिक स्कूल के प्रांगण में गणतन्त्र दिवस मनाया गया। विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती विनीता कुमार तोमर और मुख्याध्यापिका डाॅ. नीलम वत्स ने ध्वजारोहण किया।
अध्यापिका श्रीमती पूजा नासा ने अपने भाषण के द्वारा संविधान के महत्व को बताते हुए समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने का संदेश दिया। अध्यापिका अर्चना ने अपने भाषण के माध्यम से भारत के अमर वीर जवानों की महानता पर अपने विचार प्रकट किए। अध्यापिका राखी निर्मोही ने अपनी देश भक्ति कविता से सबको भावुक कर दिया।
इसके बाद सभी अध्यापक-अध्यापिकाओं ने विश्व में बधुत्व की भावना को मजबूत बनाने और विद्यार्थियों को विकट परिस्थितियों का सामना करने में सक्षम बनाने की शपथ ग्रहण की।
सी.बी.एस.ई द्वारा आयोजित ‘75वीं. आज़ादी का अमृतमहोत्सव‘ पर आधारित अनेक गतिविधियाँ आयोजित की गई। कक्षा तीसरी से बारहवीं तक ‘वीरगाथा‘ प्रोग्राम के अन्तर्गत बच्चों ने कविता, कहानी, निबंध लेखन लिखकर सी.बी.एस.ई वेबसाइट पर प्रविष्टियाँ भेजीं। गणतंत्र दिवस प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में बच्चों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। कक्षा छठी से बारहवीं तक के बच्चों ने ‘आत्मनिर्भर भारत‘ के अन्तर्गत रक्षा उत्पाद ‘अपना देश अपने हथियार‘ कार्यक्रम में उत्साहपूर्वक भाग लिया। कक्षा नर्सरी से दूसरी और छठी से आठवीं के बच्चों ने हिन्दी देशभक्ति कविता वाचन में और तीसरी से पँाचवीं के बच्चों ने कहानी वाचन में बड़ा शानदार प्रदर्शन किया।
युवा वर्ग का ‘राष्ट्रनिर्माण में योगदान‘ विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता और ष्डल टपेपवद व िप्दकपं /100 ल्मंतेष् विषय पर निबंध लेखन प्रतियोगिता आयोजित की गई।
विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती विनीता कुमार तोमर ने सभी शिक्षकगण , अभिभावकांे, बच्चों एवं अन्य सहकर्मियांे को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ दीं और अपने वक्तव्य में कहा कि प्रत्येक देश की संस्कृति की पहचान उसके त्योहारों से होती है। हमारे देश में भी सामाजिक और राष्ट्रीय त्योहारों का अपना विशेष महत्त्व है। गणतन्त्र दिवस भी राष्ट्रीय त्योहार के रूप में प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है। यह हमें उन देशभक्तों के बलिदानों का स्मरण कराता है जिन्होंने अपने त्याग एवं तपस्या के द्वारा देश को स्वतंत्र कराकर लोकतंत्र में जीने का अवसर प्रदान किया। हमें उन महान पुरूषों के द्वारा दिखाए गए मार्ग का अनुसरण करते हुए अपने देश का गौरव बनाए रखने के लिए इस दिन प्रतिज्ञा करनी चाहिए , जिससे हम अपनी स्वतंत्रता , संविधान और देश की अखंडता को सदैव बनाए रख सकें। इस अवसर पर विद्यालय के सभी अध्यापकगण, अभिभावकगण , छात्रवर्ग तथा सभी कर्मचारी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ उपस्थित रहे।
मंच का ंसंचालन अध्यापिका आरती नागपाल ने किया।

Comments