Sunday, March 3, 2024
Newspaper and Magzine


धुंध के दौरान वाहन चलाते समय बरते विशेष सावधानी, जिला पुलिस ने सड़क सुरक्षा व सुरक्षित सफर को लेकर जारी की एडवाइजरी।

By LALIT SHARMA , in Crime in Panipat , at December 13, 2021 Tags: , , , , , ,

BOL PANIPAT : 13 दिसम्बर 2021, जिला पुलिस द्वारा मौजूदा मौसम की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सर्दियों में धुंध व कोहरे के दौरान सड़क यातायात को सुरक्षित बनाए रखने के लिए यातायात एडवाइजरी जारी की गई है।पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन ने बताया कि सर्दी, कोहरे के मौसम में एहतियात उपायों से आप स्वयं ही नहीं बल्कि दूसरे को भी सुरक्षित रखेंगे।

उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कोहरे व धुंध के चलते सड़कों पर दृश्यता कम रहेगी। ऐसे में सड़कों पर वाहन का प्रयोग करते समय अधिक सावधानी बरतनी होगी। वाहन मालिक एवं चालक अपने-अपने वाहनों के पीछे रिफ्लेक्टर जरूर लगाएं। धुंध के मौसम में रिफ्लेक्टिव टेप बहुत ही कारगर साबित होती है।

पुलिस ने सुरक्षित ड्राइविंग संबंधी टिप्स जारी करते हुए यात्रियों को स्पीड का खास ध्यान रखकर धीमी गति से वाहन चलाने का आग्रह किया है। साथ ही, वाहन मालिक यह भी सुनिश्चित करें कि वाहनों की हेड लाइट, टेल लाइट, फॉग लाइट सहित इंडिकेटर, ब्रेक, टायर, विंडस्क्रीन वाइपर, बैटरी व कार हीटिंग सिस्टम सही तरीके से काम कर रहे हैं। धुंध के दौरान यात्रा करते समय वाहन चालक लो-बीम हेड लाइट का इस्तेमाल करें क्योंकि धुंध के दौरान हाई-बीम हेड लाईट कारगर नही होती है।

इंडिकेटरस को भी ऑन रखें ताकि दूसरे वाहन को भी आपके वाहन का पता चल सके। यदि कोहरे के कारण दृश्यता न्यून हो जाती है तो ऐसी स्थिति में फॉग लाइट को उपयोग अवश्य करें।

पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन ने वाहन चालकों को धुंध के दौरान सड़क हादसों को लेकर पूरी तरह आगाह करते हुए कहा है कि धूंध के दौरान सड़क पर वाहन चलाते समय वाहनों के बीच उचित दूरी बना कर रखे व दृश्यता बेहद खराब होने की स्थिति में वाहन चालक सड़क पर पेंट की गई लाइन को गाइड के रूप में उपयोग करते हुए वाहन चलाएं। ड्राइव करते समय जरूरी है कि आपका पूरा ध्यान सड़क पर हो।

धुंध के दौरान गाड़ियों की गति सीमा नियंत्रित रखने व मोबाइल फोन तथा म्यूजिक सिस्टम का उपयोग करने से बचे। इसके अतिरिक्त, बाहर की आवाज का ध्यान रखने के लिए वाहनों के शीशे थोड़ा नीचे रखें ताकि जो दिखाइे न दे सके उसे सुनकर यात्रा को पूर्ण रूप से सुरक्षित बनाया जा सके। इमरजेंसी स्टॉप होने पर, जहां तक संभव हो सड़क से नीचे वाहन को उतारने की सलाह दी गई है।

ओवरटेकिंग नही करने के अतिरिक्त, लेन बदलने, फ्री-वे और व्यस्त सड़कों पर वाहन रोकने से बचने के लिए भी कहा गया है। यातयात नियमों का पालन करना ना केवल अपने लिए व दुसरों के लिए भी बुहत जरुरी है। सड़क पर जब हम यातायात नियमों का पालन करेंगे तभी हम सड़क पर सुरक्षित रह सकते है, सुरक्षित व सतर्क होकर वाहन चलाए।

Comments