Tuesday, April 16, 2024
Newspaper and Magzine


सरकारी भूमि घोटाले में शामिल बिल्डर्स और अधिकारियों पर आपराधिक मामला दर्ज करने और यहां का लाइसेंस तत्काल प्रभाव से रद्द करने की मांग को लेकर करेंगे प्रदर्शन -स्वामी

By LALIT SHARMA , in SOCIAL , at April 1, 2024 Tags: , , ,

BOL PANIPAT ( 1 अप्रैल ) सरकारी भूमि घोटाले में शामिल अधिकारियों और बिल्डर्स के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग को लेकर प्रदर्शन करेंगे यह बात जोगिंदर स्वामी पूर्व जिला पार्षद ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में कहीं उन्होंने कहा कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण आजकल कब्जों को लेकर काफी सुर्खियां बटोर रहा है दिन प्रतिदिन एचएसवीपी की जमीन पर अवैध कब्जों की खबरें सामने आ रही है लेकिन विभाग शिकायतों के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं करता ऐसा ही मामला बरसत रोड पर हजारों गज में बनाए जा रहे एससीओ जिसमें लगभग दो- पौने दो लाख रुपए प्रति वर्ग गज के हिसाब से एससीओ बनाने के लिए जमीन बेची जा रही है लेकिन इसमें सबसे बड़ा हैरानी का विषय हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की सैकड़ो गज जमीन खसरा नंबर 3800 और 3799 जो इसी महालक्ष्मी स्पिनिंग मिल के अंदर आती थी वह कस्टोडियन भूमि है इसके अलावा सैकड़ो गज अन्य भूमि जिसको हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा एक्वायर कर उसकी पेमेंट तक कर दि गई लेकिन अधिकारियों के साथ मिली भगत करके इस जमीन पर बिल्डर्स द्वारा कब्जा तक कर उसमें प्लाटिंग शुरू कर दी गई इसकी निदेशालय को और ईओ हुड्डा को शिकायतों के बावजूद भी अधिकारियों के मिली भगत के चलते कोई कार्रवाई नहीं हो रही
उन्होंने कहा कि उनके द्वारा मुख्य प्रशासन पंचकूला को शिकायत की गई जिसमें तत्कालीन मुख्य प्रशासक अजीत बालाजी जोशी द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए कनिष्ठ अभियंता से तुरंत कार्रवाई कर इसकी रिपोर्ट मांगी गई थी लेकिन तत्कालीन जेई छत्रपाल और पटवारी महेंद्र ने मिली भगत करके निशानदेही ना होने की बात कह कर इस करोड़ों की भूमि को खुर्द-बुर्द करने का प्रयास किया उन्होंने बताया कि जब यहां की निशान देहि नहीं हो सकती तो यह जमीन बिल्डर के पास कैसे आई और किस प्रकार से सरकारी एचएसवीपी की जमीन पर करोड़ों का घोटाला किया गया उन्होंने कहा कि इस करोड़ों के सरकारी जमीन घोटाले में चंडीगढ़ के एक बड़े अधिकारी और कुछ सफेदपोष नेताओं का खुला संरक्षण है जिसके चलते शिकायतों के बावजूद भी अधिकारी आंख बंद करके बैठे हुए हैं
उन्होंने कहा कि बिना सिजरा और निशानदेही के रेरा द्वारा यहां का लाइसेंस कैसे जारी किया लाइसेंस देने से हरियाणा नियामक प्राधिकरण ( रेरा )के अधिकारियों द्वारा आखिर क्या चीज जांची गई जिसमें हजारों गज सरकारी एचएसबीपी की जमीन को भी बिल्डर्स को सौंप दिया उन्होंने कहा कि वह इस महा घोटाले की पंचकूला हरेरा कार्यालय के बाहर इस पोल खोलकर तत्काल प्रभाव से यहां का लाइसेंस रद्द करने और इसमें शामिल अधिकारियों और बिल्डर्स पर आपराधिक मामला दर्ज करने की की मांग करेंगे उसके बाद हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण मुख्यालय पंचकूला पर भी प्रदर्शन करेंगे

Comments