Saturday, June 15, 2024
Newspaper and Magzine


नैशनल हाईवे का ग्रामीणों ने काम बंद कराकर किया प्रदर्शन, धरने पर बैठे

By LALIT SHARMA , in SOCIAL , at December 10, 2021 Tags: , , ,

– ऊझा-रसालपुर रोड को बंद करने से आक्रोशित थे ग्रामीण, समस्या का समाधान होने तक देगें धरना

BOL PANIPAT : बापौली, (प्रीति शर्मा) 10 दिसम्बर : ऊझा गांव से रसालपुर गांव को जाने वाले रास्ते को नैशनल हाईवे बनाने वाली कम्पनी द्वारा स्थाई रूप से बंद करने को लेकर सैकडों ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर नारेबाजी की और निर्माण कार्य का बंद करा दिया, इतना ही नही बल्कि चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उक्त रास्ते पर अंडर पास या आने जाने का रास्ता नही खोला गया तो वो किसी भी सूरत में निर्माण कार्य नही होने देगें और साथ ही अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ जाएगें। आक्रोसित ग्रामीण हुकम चंद शर्मा, शुभम रावल, रामकिशन, भोपाल, कपिल रोहिला, विक्की, कृष्ण, नवाब, राजबीर, राजकुमार, गोविंद, रोहित, अकिंत आदि ने बताया कि उनके गांव से रसलापुर गांव में सडक जाती है।

जिससें नगीना तक नैशनल हाईवे बनाने वाली कम्पनी बंद कर रही है। इसका जब उन्होने विरोध किया तो कम्पनी के कर्मचारीयों ने बताया कि वो करीब दो किलोमीटर दूर दूसरे रास्ते से यहाँ पर आ सकते है। ग्रामीणों ने कहा कि उक्त रास्ता बंद होने से जहां उनका दुसरे गांव से सम्पर्क टुट जाएगा, वही उनका खेतों में आना जाना भी बंद हो जाएगा। क्योकि उक्त रास्ते पर उनके गांव के खेत भी है जिस कारण उन्हे खेतो में जाते समय भी भारी परेशानी का सामना करना पडेगा।

ऊझा-रसालपुर रोड का दृश्य -प्रदर्शन करते ग्रामीण

ग्रामीणों ने सरकार व प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि उक्त रास्तें को बंद ना किया जाए बल्कि उस पर अंडर पास बनाया जाए और साथ ही एक सर्विस रोड भी बनाया जाए, ताकि भविष्य में उन्हे किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पडें। उन्होने चेतावनी दी कि अगर जल्द ही उनकी समस्या का समाधान नही हुआ तो वो हाईवें के निर्माण कार्य को नही होने देगें और साथ ह उक्त रास्ते पर अनिश्ख्तिकालीन धरने पर भी बैठने के लिए मजबूर हो जाएगें। जिसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

महात्मा गांधी बस्ती का ग्रामीणों से सम्पर्क होगा खत्म

आक्रोशित  ग्रामीणों ने बताया कि उक्त रास्ता बंद होने से उनके गांव की महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती का भी सम्पर्क टूट जाएगा। जिससे उनका भाई चारा तो खत्म होगा ही साथ में भारी परेशानी का भी सामना करना पडेगा।

इस विषय में हाईवे का निर्माण करने वाली कम्पनी के प्रोजैक्ट मनैजर जितुराज का कहना है कि उन्हे एनएचएआई से ड्राईग मिली हुई है वो उसके अनुसार ही निर्माण कार्य कर रहे है। ग्रामीणों ने काम बंद कराकर धरना दे दिया है। कल उक्त मामलें में वो जिला उपायुक्त से बात करेगें। अगर एनएचएआई अनुमति देती है तो उन्हे कोई आपत्ति नही है।

Comments