Friday, July 19, 2024
Newspaper and Magzine


सार्वजनिक स्थानों सहित मित्तल मेगा मॉल परिसर में लोगों को नशे के दुष्परिणामों बारे जानकारी देकर जागरूक किया.

By LALIT SHARMA , in Crime in Panipat , at June 14, 2024 Tags: , , , , ,

-नशा वो बीमारी है, जो ना केवल एक परिवार बल्कि समाज और देश के भविष्य को खतरे में डालने का काम करता है: पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत

BOL PANIPAT : 14 जून 2024, समाज को नशा मुक्त करने के उद्देश्य से हरियाणा पुलिस द्वारा प्रदेश में 12 से 26 जून तक नशे के खिलाफ नशा मुक्त भारत पखवाड़ा अभियान शुरू किया गया है। जिले में अभियान के सफल आयोजन के लिए पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने सभी पर्यवेक्षण अधिकारियों, थाना प्रबंधक व चौकी इंचार्जों को विशेष दिशा निर्देश दिए हुए है। इसी के तहत शुक्रवार को थाना चांदनी बाग पुलिस टीम ने मित्तल मेगा मॉल परिसर में लोगों को नशे जैसी सामाजिक बुराई से दूर रहने के लिए प्रेरित किया और जीवन में नशा न करने की शपथ दिलाई।

पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने कहा कि नशा एक सामाजिक बुराई है। नशा शरीर और मस्तिष्क पर बहुत ही गलत प्रभाव डालता हैं। नशे का आदी होना आसान है लेकिन इस लत से छुटकारा पाना बेहद मुश्किल है। नशे के कारण व्यक्ति का समाजिक व पारिवारिक जीवन तबाह हो जाता है। समाज में कई लोग ऐसे होते है जो नशे की लत पाल कर पूरी तरह नशे के आदी हो जाते हैं, उनके लिए वापस लौटना और जिंदगी की नई शुरुआत करना मुश्किल होता है, क्योंकि नशे के कारण उनमें इतना मनोबल भी नहीं होता कि नशा छोड़ने के लिए संकल्प ले सकें। इस अभिशाप को जड़ से खत्म करने के लिए समाज के सभी लोगों को एकजुट होकर आवाज उठानी होगी। नशा व्यक्ति के शरीर के लिए तो हानिकारक है ही, साथ में यह अपराध करने का मुख्य कारण भी बनता है। जो व्यक्ति नशा करने लग जाता है तो वह नशा पूर्ति के लिए पैसे ना होने पर अपराधिक वारदातों को अंजाम देने लग जाता है। नशा वो बीमारी है, जो ना केवल एक परिवार बल्कि समाज और देश के भविष्य को खतरे में डालने का काम करता है।

इसलिए समाज का प्रत्येक नागरिक नशा मुक्त समाज बनाने में अग्रणी भूमिका अदा करें। उन्होंने कहा कि नशे का कारोबार करने वाले लोगों की जगह जेल में है, इसलिए नशा बेचने वालों की सूचना बेझिझक पुलिस को दें, पुलिस द्वारा कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान भी गुप्त रखी जायेगी।

नशा तस्करों पर अंकुश लगाने में जिला पुलिस को गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष अधिक कामयाबी मिली पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि जिला पुलिस ने इस वर्ष बीते 5 माह के दौरान नशा तस्करी पर कड़ा प्रहार करते हुए गत वर्ष की तुलना में नशा तस्करी के 12 प्रतिशत अधिक अभियोग दर्ज किए है। वर्ष 2023 में 1 जनवरी से 31 मई तक नशा तस्करी के 50 अभियोग दर्ज किये गए थे। वर्ष 2024 में 1 जनवरी से 31 मई तक नशा तस्करी के 57 अभियोग दर्ज किए गए है।

Comments