Friday, July 19, 2024
Newspaper and Magzine


झूठी निकली लूट की वारदात. शिकायतकर्ता की ही निकला मुख्य साजिशकर्ता.

By LALIT SHARMA , in Crime in Panipat , at June 14, 2024 Tags: , , , , ,

-आइसक्रीम की सेल के पैसे नशा करने में खर्च कर लूट का ड्रामा रचा

BOL PANIPAT : 14 जून 2024, पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए सीआईए वन पुलिस टीम ने सलारगंज गेट के पास युवक के साथ हुई लूट वारदात का महज 24 घंटे के दौरान ही पर्दाफास कर दिया। उक्त वारदात झूठी निकली। शिकायतकर्ता अक्षु गोयल ही मुख्य साजिशकर्ता निकला। उसने आइसक्रीम सप्लाई की सेल के पैसे दोस्तों के साथ नशा करने में खर्च कर दिए। बाद में मालिक के डर से लूट की मनगढत झूठी कहानी बनाकर थाना शहर में शिकायत देकर केस दर्ज करवाया था।

सीआईए वन प्रभारी सब इंस्पेक्टर महिपाल सिंह ने बताया कि थाना शहर में अक्षु गोयल पुत्र योगेश निवासी वार्ड 11 ने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि वह हिमगिरी फूड्स में आइसक्रीम सप्लाई का काम करता है। 11 जून की शाम वह एक्टिवा पर आइसक्रीम सप्लाई का बैग व पेमेंट लेकर सलारगंज गेट के होते हुए जा रहा था। विक्की बनारसी की बिल्डिंग के पास पहुंचने पर उसने एक्टिवा को खड़ा किया और पेशाब करने लगा। इसी दौरान तीन लड़के आए और उसका मुंह दबाकर सुनसान बिल्डिंग में ले गए। वह पर उनके दो साथी पहले से खड़े थे। लड़को ने उसके साथ मारपीट कर चाकू के बल पर जेब से 3680 रूपये निकाल लिए। उनमें से एक लड़का अपने आप को धोनी कह रहा था। पैसे लूटकर आरोपियों ने किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी और मौके से फरार हो गए। अक्षु की शिकायत पर थाना शहर में लूट की धारा के तहत अभियोग दर्ज कर पुलिस ने आरोपियों की पहचान व धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए थे।

सब इंस्पेक्टर महिपाल सिंह ने बताया कि सीआईए वन पुलिस टीम ने पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए धोनी निवासी तहसील कैंप व रोशन निवासी जैन मोहल्ला को काबू कर पूछताछ की तो दोनों ने बताया अक्षु उनका दोस्त है और तीनों एक साथ बैठकर नशे का सेवन करते है। अक्षु ने 11 जून की देर शाम परमहंस कुटीया के पास खाली जगह में उन दोनों के साथ बैठकर नशे का सेवन किया था। नशा खरीदने में अक्षु ने आधे पैसे दिए थे।
पुलिस टीम ने दोनों के सामने अक्षु को बैठाकर पूछताछ की तो उसने बताया आइसक्रीम की सेल के पैसे नशा करने में खर्च हो गए तो उसने मालिक के डर से लूट की मनगढत झूठी कहानी बनाकर थाना शहर में शिकायत देकर केस दर्ज करवा दिया।

सब इंस्पेक्टर महिपाल सिंह ने बताया कि जांच में लूट की वारदात झूठी मिली। झूठा केस दर्ज करवाने पर अक्षु के खिलाफ आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Comments